Jaisalmer में Reth Festival जनवरी में

Jaisalmer में Reth Festival जनवरी में - राजस्थान की सांस्कृतिक धरोहर जैसलमेर में युवाओं को विभिन्न कलाओं को सीखने के साथ-साथ अनुभव करने का मौका भी मिलेगा। अगले वर्ष 29 जनवरी से 2 फरवरी तक 'रेथ-2020Ó रचनात्मक आवासीय कार्यशाला होगी। यह जैसलमेर के नारायण निवास पैलेस और नाचना हवेली में होगा। इसके जरिए रचनात्मक शिक्षण का माहौल तैयार किया जाएगा। इस फेस्टिवल में दिन के समय कला सीखने में युवा हाथ आजमाएंगे तो शाम को संगीत की प्रस्तुतियों में देश की संगीतमय कला को समझ सकेंगे। यह वर्कशॉप नौसिखियों, स्टूडेंट, शौकिया और प्रोफेशनल्स के लिए डिजाइन की गई है।

सैंड एनिमेशन में शॉर्ट सैंड फिल्म

यहां पर जहां आदित्‍य विपार्थी सैंड एनिमेशन में शॉट सैंड एनिमेशन फिल्म बनाना सिखाएंगे, जिसमें जैसलमेर की सांस्कृतिक और स्थापत्य विरासत के दर्शन होंगे। वहीं, विक्रम जोशी ब्लॉक्स और प्राकृतिक डाई का उपयोग करते हुए टिकाऊ प्रिंटमेकिंग बताएंगे।



इसमें बगरू और सांगानेरी ब्लॉक प्रिंटिंग के साथ ही इतिहास परंपराएं भी देखने को मिलेगी। साथ ही अजय शर्मा और मीनाक्षी सेनगुप्‍ता गुगल मिनिएचर पेंटिंग के जरिए मुगल लघु चित्रकथा का इतिहास दर्शन कराएंगे। यह प्राकृतिक रंगों का उपयोग करते हुए मिनिएचर का खुद का वर्जन तैयार करने के लिए युवाओं को प्रोत्साहित करेंगे। कैलिफोनिया स्थित परफॉर्मिंग आर्टिस्ट और पेंटर कार्ल नैप राजस्थान का एक पोट्र्रेट बनाएंगे।


राजस्थानी के फोक आर्ट से होंगे रूबरू

वहीं, ए टच ऑफ फोक में लोक वाद्ययंत्रों, तकनीक के उपयोग और संगीत निर्माण के बारे में जेरेमी नॉट, त्रिशा सिंहा और सवाई खान मांगणियार बताएंगे। इसमें हैंड पान, मोरचंग और खड़ताल जैसे उपकरणों से राजस्थानी लोक संगीत के बारे में बताएंगे। वर्कशॉप में आर्टिस्ट कार्तिक गणेश स्मार्टफोन से फिक्शन कंपोज और क्रिएट करने के लिए डॉक्यूमेंट्री बनाना सीखाएंगे। कौशिक मुखर्जी स्वतंत्र फिल्म निर्माण के गुर बताएंगे।
फेस्टिवल रेथ के को-क्यूरेटर्स लैला वजिराली और दीपांकर जोजो चाकी ने बताया कि युवाओं को सांस्कृतिक धरोहर से रूबरू कराने का प्रयास है। संस्कृति शिक्षण और संरक्षण के बारे में बताएंगे।

Comments