china india line of actual control ladakh

कोविड 19 महामारी के लिए दुनिया की आलोचना झेल रहा चीन अब नई साजिशें रच रहा है। अमेरिका के साथ खराब होते रिश्तों के बीच चीन अब भारत को तेवर दिखा रहा है। चाहे वो पूर्वी लद्दाख सीमा पर बढ़ती गतिविधियां हों, भारत की गलवान घाटी पर दावा या फिर भारत के खिलाफ दुष्प्रचार, हर मोर्चे पर चीन ने जंग जैसा माहौल बना रखा है।

लेकिन तेवर दिखते चीन को करारा जवाब देने के लिए भारत ने भी अपनी तैयारी पूरी कर ली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत और चीनी सैनिकों में तनाव बढ़ने के बीच कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ बैठक हुई।

जानकारी के अनुसार इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सीमा की स्थिति और भारत की तैयारियों से रुबरु कराया गया। हालांकि इसके बारे में कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आज आर्मी कमांडर्स कॉन्फ्रेंस भी होनी थी। जानकारी के अनुसार आर्मी कमांडर्स की बैठक साल में दो बार होती है। इसमें सेना के सातों कमांड के अफसर भाग लेते हैं। चीन से सटी उत्तरी और पूर्वी कमांड के सैन्य अधिकारी भी इस कॉन्फ्रेंस का हिस्सा हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि कॉन्फ्रेंस आक्रामक तेवर दिखा रहे चीन के खिलाफ रणनीति के लिए हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here