PM मोदी द्वारा 6 सालो में किए गए महान कार्य,बदल दी भारत की तस्वीर।

नई दिल्ली: आज मोदी 2.0 के एक साल पूरे हो गए और मोदी सरकार के 6 साल पूरे हो गए. इन 6 वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ऐसे कई निर्णय लिए जिसने देश की छवि ही बदलकर रख दी. स्वच्छ भारत से लेकर स्वस्थ भारत तक और कश्मीर क्रांति से लेकर नागरिकता क्रांति तक मोदी सरकार ने कई ऐतिहासिक फैसले लिए. आपको बताते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सिक्सर जो उन्होंने पिछले 6 सालों में लिए. शुरुआत मोदी सरकार 2 के फैसलों से करते हैं.

ऐसे विवादित फैसले जो दशकों तक अटके हुए थे, जिन्हें जानबूझकर लटकाया गया था. जिन विवादित मुद्दों को पिछली सरकारों ने छूने तक की हिम्मत नहीं दिखाई, उन्हें मोदी सरकार ने एक झटके में जड़ से खत्म कर दिया.

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया

जम्मू कश्मीर 70 साल तक आर्टिकल 370 की जंजीरों में जकड़ा रहा. पिछले साल 5 अगस्त को मोदी सरकार ने कश्मीर को अनुच्छेद 370 से मुक्ति दे दी. इसी के साथ जम्मू-कश्मीर में देश के वो सभी कानून लागू हो गए, जिन्हें 70 साल तक लागू नहीं किया जा सका था. साथ ही जम्मू-कश्मीर का अलग झंडा हटाकर अब वहां के सरकारी दफ्तरों में तिरंगा लहराने लगा. अनुच्छेद 370 की बेड़ी टूटने के साथ ही जम्मू-कश्मीर के लोगों को अब केंद्र सरकार की लाभकारी योजनाओं का भी फायदा मिलने लगा, जिनसे कई सालों तक कश्मीर के लोगों को वंचित रखा गया.

मोदी सरकार की नागरिकता क्रांति

मोदी सरकार 2.0 के पहले सात महीने में ही मोदी सरकार ने फिर से बड़ा फैसला लेकर सबको चौंका दिया. ये फैसला था नागरिकता क्रांति का. पिछले साल 11 दिसंबर को संसद में नागरिकता संशोधन बिल पेश किया, जो अब कानून बन चुका है.

नागरिकता संशोधन कानून के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अल्पसंख्यकों को भारत में नागरिकता का अधिकार मिल गया. यानी इन देशों के हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई जो सालों से शरणार्थी की जिंदगी जीने को मजबूर थे. उन्हें भारत की नागरिकता प्राप्त करने का अधिकार मिल गया.

पड़ोसी देशों से जान बचाकर भागे लोग जो सालों तक भारत में शरणार्थी बने रहे अब वो भारत के नागरिक कहलाने लगे हैं.

अयोध्या विवाद का अंत

देश के सबसे बड़े कानूनी विवाद, अयोध्या विवाद का हल भी मोदी सरकार 2.0 के पहले छह महीने में ही हो गया. सालों से कोर्ट की कार्रवाई में उलझे भगवान राम को सुप्रीम कोर्ट से न्याय मिला और 9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले ने अयोध्या में रामजन्मभूमि को ही राम का जन्म का स्थान माना. कोर्ट के आदेश के बाद मोदी सरकार ने राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का गठन कर दिया. तीर्थ क्षेत्र के गठन के साथ ही अब अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण का काम शुरू हो चुका है.

तीन तलाक का खेल खत्म

मोदी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की काली प्रथा से आजादी दिलाई. 6 साल के कार्यकाल में मोदी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है तीन तलाक को खत्म करना. तीन तलाक कानून के तहत कोई भी मुस्लिम शख्स मौखिक, लिखित या किसी अन्य माध्यम से अपनी पत्नी को एक बार में तीन बार तलाक देता है तो वह अपराध माना जाएगा. ऐसी मुस्लिम महिलाएं जो तीन तलाक के डर के साए में जीने को मजबूर थीं अब आत्मसम्मान के साथ अपनी जिंदगी जी रही हैं.

आतंकवाद पर जीरो टॉलरेंस

मोदी सरकार में देश का चरित्र ही बदल गया. आतंकवाद के मुद्दे पर देश अब सहने की बजाए उसका मुंहतोड़ जवाब देना सीख गया. 2016 में पाकिस्तान में आतंकी अड्डे पर सर्जिकल स्ट्राइक इसका पहला उदाहरण था. इसके बाद 2019 में बालाकोट में एयर स्ट्राइक करके एक बार फिर आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति का संदेश आतंकियों और उनको पालने वाले देश को दिया. पिछले साल अक्टूबर में PoK में लॉन्च पैड ध्वस्त करना भी जीरो टॉलरेंस का सबूत है. पिछले कुछ समय में जम्मू कश्मीर में आतंकवाद में आई कमी नए हिंदुस्तान की संकल्प शक्ति का प्रमाण है.

देश में स्वच्छता की अलख जगाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है देश को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले ही कार्यकाल में स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की. पीएम ने देश, शहर, गांव को स्वच्छ करने के लिए बहुत बड़े स्तर पर मिशन चलाया. गांव में शौचालय बनवाए गए, शहरों को स्वच्छता की कसौटी पर परखा जाने लगा. अब हर शहर, गांव के लोग स्वच्छता की आदत अपना रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चुनौतियां खत्म नहीं हुई हैं. आगे और भी चुनौतियां हैं जिनसे अगले 4 साल में सरकार को मुकाबला करना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here