पाकिस्तान में गैर मुस्लिम लोगों के हालात।

पाकिस्तान जहां अल्पसंख्यकों की कद्र नहीं की जाती। अल्पसंख्यक से तात्पर्य है कि पाकिस्तान में रह रहे हिंदू शेख इसाई इन धर्मों के लोगों जनसंख्या आजादी के बाद से ही घटती आ रही है। पाकिस्तान कि सरकार तथा वहां के लोग अल्पसंख्यकों पर अत्याचार तथा उनकी मां बहनों तथा उनके बच्चों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं क्योंकि उन लोगों ने इस्लाम कबूल नहीं किया।

Hindus

पाकिस्तान में जिन लोगों ने इस्लाम को कबूल कर लिया वह लोग बच गए लेकिन जिन लोगों ने इस्लाम कबूल नहीं किया उन पर आज भी अत्याचार किया जाता है उनकी मां बहनों के साथ रेप करने की कोशिश की जाती है तथा जबरन धर्म परिवर्तन करवाया जाता है।

पाकिस्तान सरकार इन मुद्दों को कभी भी उजागर नहीं करती, वह इस पर कार्यवाही नहीं करती। पाकिस्तान में अल्पसंख्याक यानी हिंदू समाज तथा सिख समाज के धार्मिक स्थलों को जबरन तोड़ा जाता है। उनके घर वालों को डराया जाता है धमकाया जाता है ताकि वह इस्लाम कबूल करें।

कॉरोना के हालात में गैर मुस्लिम्स के हालात।

Hindus in Pakistan

 

कॉरोना जैसे हालात में जहां पाकिस्तान के पास खाने को खाना नहीं पीने को पानी नहीं इन हालातों में हिंदू समाज तथा सिख समाज के लोगों को खाना पानी नहीं दिया जाता। क्योंकि वह हिंदू और सिख हैं।

CAA भारत सरकार (बीजेपी) द्वारा लाया गए कानून जिसके सहारे पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के अल्पसंख्याक हिंदू ,सिख ,इसाई, पारसी ,बौद्ध तथा अन्य गैर इस्लामिक धर्मों के लोगों को भारत में शरण दी जाएगी। उन्हें नागरिकता प्रदान की जाएगी।

यदि कोरोना जैसा महाकाल नहीं आता तो भारत सरकार द्वारा काफी अल्पसंख्यकों को भारत में अब तक शरण मिल चुकी होती। पाकिस्तान के अल्पसंख्यक भारत के पीएम माननीय नरेंद्र मोदी का धन्यवाद देते हैं।

भारत सरकार पहले ही काफी अल्पसंख्यकों को नागरिकता प्रदान कर चुकी है। वह आगे भी अल्पसंख्यकों को भारत मे लाकर उन्हें नागरिकता प्रदान करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here